क्या पैगंबर मुहम्मद के बारे में अपनी टिप्पणी पर नूपुर शर्मा सही हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language



Blog

letsdiskuss

Admin | Posted on | news-current-topics


क्या पैगंबर मुहम्मद के बारे में अपनी टिप्पणी पर नूपुर शर्मा सही हैं?


0
0




Marketing Manager | Posted on


पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए बयान को लेकर नूपुर शर्मा को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया जा चुका है । उन्होंने टीवी चैनल में एक डिबेट की दौरान कहा था कि जिस तरह से एक विशेष समुदाय के लोग हमारे देवी देवता पर अभद्र भाषा का प्रयोग कर रहें है अगर मैं भी उनके अल्लाह के राज खोलने लगूंगी तो सब शांत हो जाएंगे । उनके अल्लाह ने आखिर क्यों अपनी बेटी से शादी की इसका जवाब किसी के पास नही है । केवल यह लोग हमारे भगवान पार उंगली उठाना जानते है । नूपुर शर्मा के द्वारा बस इतना ही बोलना आज देश को जला

 

दिया है । Letsdiskuss 

 

 

लेकिन अगर हम बात करें उनके बयान की तो शायद वो गलत नही है । क्योंकि अगर हम किसी के द्वारा लगातार उकसाए जा रहें है तो हम भी बोल सकते है । ऐसा हम नही हमारा संविधान कहता है । साथ ही नूपुर शर्मा ने तो अपने धर्म को बचाने के लिए इस तरह का बयान दिया है । जो किसी भी प्रकार से गलत नही है । 

 

आपको बता दें कि जब से ज्ञानवापी मस्जिद का विवाद सामने आया है आप देख सकते है कि एक विशेष समुदाय के लोग किस तरह से अभद्र भाषा का प्रयोग कर रहें है । यहां तक कि शिवलिंग को फव्वारा बता रहे है । रोड पर बनी ही रेलिंग को शिवलिंग बता रहें है । इस तरह की बयानबाजी करना भी गलत है लेकिन शायद लोगों को यह नही दिखता । 

 

आपको एक वाकया और बताता हूं कुछ दिन पहले ओवैसी के छोटे भाई ने हिंदू  देवी , देवता को बहुत अपमानित किया तब किसी भी हिंदू ने इसका विरोध नही किया , ना ही किसी मुस्लिम ने इसका जवाब मांगा । क्योंकि उनका कहना लोगों की निगाह में सही था । अगर उनके ऊपर किसी भी तरह की करवाई नही हुई । तो नूपुर शर्मा के द्वारा दिया हुआ बयान भी सहीं है ।

 

नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहमद को लेकर वहीं बोला है जो किताबों में लिखा हुआ है । यह किताब लिखने वाला कोई और नही है बल्कि उनके धर्म के लोग ही है सबसे बड़ी बात तो यह है कि अगर उस किताब में गलत लिखा है तो मुस्लिम इसके लिए क्यों विरोध नही कर रहें है ।


0
0

Picture of the author