किस देश की अदालतों में अरबी, अँग़रेजी (आँग्ल भाषा) के बाद तीसरी भाषा के रूप में हिन्दी को मान्यता दी गई है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language



Blog

Rinki Pandey

| Posted on | Education


किस देश की अदालतों में अरबी, अँग़रेजी (आँग्ल भाषा) के बाद तीसरी भाषा के रूप में हिन्दी को मान्यता दी गई है?


0
0





किस देश की अदालतों में अरबी, अँग़रेजी (आँग्ल भाषा) के बाद तीसरी भाषा के रूप में हिन्दी को मान्यता दी गई है?

दोस्तों पूरी दुनिया में हिंदी बहुत तेजी से बोली पढ़ी लिखी जा रही है। आज हम एक ऐसे देश की बात करेंगे, जहां पर अरबी, अंग्रेजी के बाद तीसरी भाषा  के रूप में हिंदी को मान्यता दी गई है। 

 

आपको बता दें कि यहां पर 26 लाख से अधिक भारतीय रहते हैं।  अदालती कार्रवाई और कानून धाराओं को समझने के लिए अरबी अंग्रेजी के साथ हिंदी भाषा को भी मान्यता दी गई है। यहां पर अब कानूनी और कोर्ट कचहरी के काम में अब 3 भाषाएं  इस्तेमाल किया जाएगा।  संयुक्त अरब अमीरात देश में  अदालत की भाषा अरबी अंग्रेजी के साथ अब हिंदी भी हो गई है। हिंदी के लिए बहुत सम्मानजनक बात है। यह फैसला इसलिए लिया गया क्योंकि वहां पर भारतीयों की संख्या अधिक है जो हिंदी भाषा जानते हैं।   

 

Letsdiskuss

 

इस तरह से देखा जाए तो हिंदी भाषा बहुत तेजी से पूरी दुनिया में अपनी धाक जमा रही है। आपको बता दें कि प्रशांत महासागर के एक छोटे से देश फिजी की आधिकारिक भाषा हिंदी है मतलब वहां पर हिंदी में सरकारी काम होता है।

 

हमारे देश में अभी भी कोई एक राष्ट्रभाषा नहीं है लेकिन जिस तरह से हिंदी को सम्मान पूरी दुनिया में मिल रहा है क्या आपको नहीं लगता है कि हिंदी को राष्ट्रभाषा बना दिया जाना चाहिए।

 

 हिंदी और बांग्ला का वर्चस्व संयुक्त राष्ट्र संघ में

 

दुनिया की दूसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा हिंदी भाषा है। आपको यह जानकर बड़ी खुशी होगी कि भारत की 3 भाषाएं संयुक्त राष्ट्र संघ की लिखा पढ़ी भाषा के अंतर्गत शामिल कर लिया गया है। आपको बता दें कि संयुक्त राष्ट्र संघ की पांच स्थाई भाषा के अलावा हिंदी, बांग्ला को भी अस्थाई लिखा पढ़ी की भाषा घोषित किया गया है।


0
0

Picture of the author