ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बुध ग्रह के क्या प्रभाव हैं ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


Rohit Valiyan

Cashier ( Kotak Mahindra Bank ) | Posted on | Astrology


ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बुध ग्रह के क्या प्रभाव हैं ?


0
0




Astrologer,Shiv shakti Jyotish Kendra | Posted on


जैसा कि सभी जानते हैं, कि ज्योतिष शास्त्र में जितने भी ग्रह हैं, उन सबका अपना महत्व हैं, जैसा कि पहले बताया गया हैं, सूर्य, केतु,शनि के बारें में | आज हम आपको बुध ग्रह के बारें में बताते हैं, बुध ग्रह के अच्छे और बुरे प्रभाव क्या होते हैं,उसके बारें में हम आपको बताते हैं |

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बुध ग्रह को देवताओं का संदेश वाहक जिसको हम वर्तमान में Courier वाला कह सकते हैं, कहा जाता हैं । बुध ग्रह मिथुन और कन्या राशि का स्वामी होता हैं | बुध ग्रह सूर्य के निकटम ग्रह में से एक हैं, और बुध ग्रह का अच्छा और बुरा प्रभाव कई बार हमारी राशि में सूर्य के प्रभाव से भी पड़ता हैं |

बुध ग्रह के प्रभाव :-

-जैसा कि अभी आपको बताया कि बुध ग्रह मिथुन और कन्या राशि का स्वामी हैं, इसलिए इस ग्रह प्रकर्ति दोहरी होती हैं |

- 2 राशियों का स्वामी होने के कारण यह ग्रह मिथुन राशि और कन्या राशि पर अपना नियंत्रण रखता हैं |

- बुध ग्रह मनुष्य के हाथ, कान, फेफड़े, तंत्रिका तंत्र(nervous system) और त्वचा जैसे अंगों को प्रभवित करता हैं |

- बुध ग्रह मनुष्य की बातों में तर्क को दर्शाता हैं, जिन लोगों का बुध ग्रह मजबूत होता हैं, वे लोग बहुत ही समझदार प्रवत्ति के होते हैं |

- बुध ग्रह का मनुष्य की कुंडली में अच्छा और मजबूत स्थान, उसको हमेशा success बनाता हैं, और तर्क-वितर्क में भी हमेशा जीत हासिल करवाता हैं |

- बुध ग्रह के मित्र - सूर्य ,शुक्र और राहु , अब सोचिये जिनके ये तीनो ग्रह मित्र हैं, उनका बुरा कैसे होगा |

- बुध ग्रह का शत्रु - चन्द्रमा और बुध ग्रह की स्वराशि अर्थात जिसको बुध ग्रह नियंत्रित करता हैं - मिथुन राशि और कन्या राशि |

बुध ग्रह को और अधिक मजबूत बनाने के लिए आप भगवान विष्णु की पूजा कर सकते हैं | इससे आपका बुध ग्रह अधिक मजबूत होगा और आपके जीवन में इसका अच्छा प्रभाव देगा |

Letsdiskuss


0
0

Picture of the author