राखी सावंत ने तनुश्री दत्ता को बलात्कारी क्यों कहा ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language



Blog
Earn With Us

Sneha Bhatiya

Student ( Makhan Lal Chaturvedi University ,Bhopal) | Posted on | Entertainment


राखी सावंत ने तनुश्री दत्ता को बलात्कारी क्यों कहा ?


0
0




Creative director | Posted on


अपने काम से ज्यादा अपने विवादपूर्ण बयानों से जानी जाने वाली राखी सावंत ने तनुश्री दत्ता और उनके #Metoo मूवमेंट के खिलाफ पहले भी बहुत कुछ कहा है परन्तु इस बार उनके द्वारा दिया गया बयान एक बहुत संगीन आरोप के रूप में सामने आया । राखी सावंत ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में तनुश्री दत्ता को लेस्बियन बुलाया । राखी ने अपने और तनुश्री दत्ता के पुराने रिश्तों पर भी जवाब दिए और कुछ ऐसे राज़ उजागर किए जिनपर यकीन कर पाना थोड़ा मुश्किल है ।


राखी सावंत इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में साड़ी में नज़र आयीं ( जिससे साफ़ दिख रहा था कि वह खुदको अबला नारी जैसा दिखाना चाहती हैं ) । राखी के पूरे ब्यान को आप सुन सकते हैं और समझ सकते हैं कि उन्होंने केवल एक पक्ष में ही पूरा ब्यान दिया है । राखी ने कहा कि तनुश्री और वह दोस्त थे और तनुश्री ने उनके साथ बलात्कार किया । यदि तनुश्री उनके साथ बलात्कार करती तो क्या राखी सावंत इस बात का इंतज़ार कर रहीं थीं कि कब तनुश्री किसी पर आरोप लगाएं और मै उनकी टांग खींचने वहां आ जाऊं ? साल 2014 की ही बात थी जब राखी और उनकी दोस्त को एक फिल्म के डायरेक्टर को थप्पड़ मारते देखा गया था, वो भी केवल इसलिए क्योंकि डायरेक्टर ने राखी के सीन काट दिए थे । अगर राखी और उनकी सहेली एक फिल्म में सीन काटने पर डायरेक्टर को मीडिया के सामने थप्पड़ मार सकती हैं तो क्या उनके साथ हुए बलात्कार के बारे में दुनिया को नहीं बता सकतीं ?

अकसर महिलाएं अपने साथ हुए दुष्कर्म के बारे में महीनो या सालों बाद लोगो को या पुलिस को बताती हैं, परन्तु राखी सावंत जैसी महिला जो ड्रामा करने के अलावा शायद ही कुछ करती हैं, क्या वह किसी मुद्दे को, जो उन्हें अचानक से ही विशेष ख्याति दिला सके, को मन में दबाकर कैसे बैठ सकतीं हैं ? 

Letsdiskuss

राखी सावंत ने अपने ब्यान में एक तरफ यह कहा कि बॉलीवुड में बहुत लेस्बियन हैं जिनमे से एक तनुश्री भी हैं । राखी ने यह भी कहा कि बॉलीवुड एक्टर्स को फसाया जा रहा है वो लोग बलात्कारी नहीं हैं । क्या राखी के लिए शारीरिक शोषण का मतलब केवल बलात्कार है ? वह अपने ब्यान से तनुश्री दत्ता को ही नहीं परन्तु उन सारी महिलाओं को गलत ठहरा रही हैं जो #Metoo मूवमेंट का हिस्सा बन रही हैं । एक तरफ राखी खुदको अबला दिखाने की कोशिश कर रही हैं और दूसरी तरफ वो हर उस महिला को झूठा कह रही हैं जो अपने साथ हुए शारीरिक शोषण के खिलाफ आवाज उठा रही हैं ।


0
0

B.A. (Journalism & Mass Communication) | Posted on


बलात्कार एक बहुत ही संवेदनशील मुद्दा होता है और शायद ही कोई महिला इस तरह के संगीन अपराध के बारे में झूट बोलना चाहेगी । परन्तु जब वह महिला राखी सावंत हो तो उनकी बात पर यकीन करने से पहले व्यक्ति दस हज़ार बार सोचना जरूरी समझेगा । जब तनुश्री दत्ता ने #metoo मूवमेंट की नींव भारत में रखी तो उनपर विश्वास करने का लोगो के पास कारण था । तनुश्री के पास उस घटना का एक-एक सबूत था, वहाँ कुछ लोग थे जिन्होंने उनके ब्यान को सत्य बताया और साथ ही तनुश्री अचानक से कोई आरोप लेकर सामने नहीं आयीं है, उन्होंने 10 साल पहले भी नाना पाटेकर के खिलाफ आवाज़ उठाई थी । वहीं दूसरी तरफ हम राखी सावंत को देखते हैं तो उनकी बातों में झूट और पक्षपात के सिवाय कुछ और नज़र नहीं आता ।  

Letsdiskuss

राखी जाने कहाँ से उठकर आतीं हैं और किसी के भी मामले में टांग अड़ाना शुरू कर देती हैं, चाहे वह अनूप जलोटा हो या सनी लियोनी । जिन लोगो को मीडिया से थोड़ी भी फुटेज मिल रही हो, उनपर टिप्पणी करने राखी आ जाती हैं । राखी ने जब यह कहा कि तनुश्री दत्ता लेस्बिअन हैं और उन्होंने राखी को ड्रग्स देकर उनका बलात्कार किया, इससे उनका साफ़ मतलब था कि वह अबला हैं, उनकी इज़्ज़त के साथ खिलवाड़ हुआ है और उन्हें इन्साफ मिलना चाहिए । राखी ने फिर यह भी कहा कि तनुश्री एक नंबर की झूटी है और बॉलीवुड के शरीफ लोगो को फंसा रही है । साथ ही यह भी की तनुश्री ड्रग्स के नशे में पड़ी हुई थी इसलिए राखी सावंत को उनके स्थान पर आइटम नंबर मिल गयाथा ।

 राखी के लिए उनकी इज़्ज़त इज़्ज़त है उनकी आबरू आबरू है किसी और की नहीं । उन्होंने तनुश्री को कहा कि वह 10 साल बाद क्यों बोल रही है पहले क्यों नहीं बोला, तो भाई राखी क्यों 10 साल बाद आयी है, वह भी तो पहले आ सकती थी ।
राखी सावंत नौटंकी और दोगलेपन का चलता फिरता उदाहरण है, और वह यह सब केवल इसलिए कर रही है क्योंकि उसे इसके पैसे मिल रहे होंगे या फिर यह भी लाइमलाइट में आने का एक तरीका है, इससे ज्यादा कुछ नहीं । 


0
0

Picture of the author