मुंबई के ताज होटल में सबसे ज्यादा बिकने वाली चीज क्या है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language



Blog

A

Anonymous

Blogger | Posted on | others


मुंबई के ताज होटल में सबसे ज्यादा बिकने वाली चीज क्या है?


0
0




Content Coordinator | Posted on


यह बात तो हम सभी जानते है की मुंबई का ताज होटल भारत के सबसे आलिशान और उम्दा होटलों में से एक है, और सबसे अच्छी चीज़ की कीमत भी सबसे अच्छी होती है | इसलिए आपके सवाल को पढ़ कर मुझे एक मिनट के लिए हसी आयी और फिर जवाब के रूप में इतना समझ आया की वहाँ आपको बताना चाहिए की वहां की हर चीज़ बहुत महंगी है |


Letsdiskuss courtesy-TripAdvisor


होटल ताज का, एक दिन का किराया आपके होश उड़ा देगा | इस होटल मे 560 कमरे एवं 44 सुइट्स हैं। और यह होटल 16 दिसंबर 1903 को खोला गया था। मतलब यह होटल 114 पुराना होटल हैं। जहाँ आपको हर चीज 114 साल पुरानी मिलेगी जो इसको बहुत ही आकर्षित और सुंदर बनाती हैं। अगर आप होटल ताज में एक रात गुजरना चाहते हैं। तो आपको लगभग ₹6 लाख राशि देने होंगे। जो एक साधारण आम इंसान के लिए नाम मुमकिन है। इस होटल में को देखने और घूमने के लिए हर देश से लोग आते हैं। और इस होटल के व्यवस्था और खानपान का भरपूर आनंद लेते हैं।


courtesy-dobbernationLOVES


आपको जान कर हैरानी होगी की मुंबई के होटल ताज में एक कप चाय की कीमत भी 700 रूपए है | अगर आप भी खाने पीने और महंगी चीज़ों के शौक़ीन  दिलचस्प व्यक्ति है तो एक बार मुंबई के ताज होटल में जरूर जाएँ | 



1
0

Blogger | Posted on


लेकिन कभी किसी ने ये गौर नहीं किया की जिस सरकारी मास्टर को आप गली देते है की उसे बैठे बैठे तनख़्वाह मिलती है, उसके जीवन की कठिनाइयाँ अपने कभी जानी?

चुनाव के समय एक शिक्षक की ड्यूटी लगा दी जाती है।

जनगढ़ना के समय सरकारी शिक्षक की ड्यूटी लगा दी जाती है।

पोलियो मिशन के लिए सरकारी शिक्षक की ड्यूटी लगा दी जाती है।

सरकार के द्वारा कोई मिशन चला इनकी ड्यूटी लगा दी गयी।

एक पुलिस वाले की कठिनाई के बारे में नहीं सोचते लोग, केवल उसे गली देने लग जाते है।

किसी भी त्योहार में अपने घर परिवार से दूर रहकर आपकी और आपके परिवार की रक्षा में लग जाता है। चाहे वो चुनाव हुआ, होली हुई, ईद हुई, दीपावली हुई या कोई भी पर्व हुआ केवल वो आपकी सेवा में तत्पर रहते है।



0
0

Picture of the author