अगर आप शिक्षा मंत्री होते तो क्या करते ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


supriya sunariya

Marketing executive | Posted on | Education


अगर आप शिक्षा मंत्री होते तो क्या करते ?


0
0




| Posted on


यदि मैं शिक्षा मंत्री होती तो आज की शिक्षा को अधिक से अधिक सरल बनाने की कोशिश करती है। क्योंकि आज हमारे देश में एम ए, और एमएससी जैसे डिग्री के लिए  अधिक से अधिक पैसा खर्च करने के बाद भी हमें कोई नौकरी नहीं मिलती है। और हमारी वर्षों की तपस्या पानी में चली जाती है। जिससे लोग अपने घर को चलाने के लिए गलत काम को करने के लिए मजबूर हो जाते हैं। इसलिए मैं हालात को देखते हुए अपने देश की शिक्षा को निशुल्क कराने की कोशिश करती। और शिक्षा के माध्यम से लोगों को बागवानी, सिलाई सेंटर, कोचिंग सेंटर, फोटोग्राफी, चित्रकला आदि को खोलने का मौका देती। क्योंकि हमारे देश के शिक्षा का पूरा बोझ शिक्षा मंत्री के ऊपर होता है। और मैं सभी पढ़ रहे बच्चों को छात्रवृत्ति प्रदान करने की कोशिश करती है।Letsdiskuss


0
0

Preetipatelpreetipatel1050@gmail.com | Posted on


यदि आज मैं शिक्षामंत्री होती तो सबसे  पहले अपने देश की शिक्षा नीति  को आगे रखती जिसके कारण सभी लोग शिक्षित होते  और अपने देश मे एक बदलाव लाते जिसके कारण आज हमारा देश नई टेक्नोलॉजी का उपयोग करके सभी देशो से आगे रहता और हमारी  आर्थिक स्थिति  अच्छी होती! हमारे देश में स्कूल ही नहीं बल्कि अनेक प्रकार के शिक्षा के बारे में भी जानकारी दी जाती जैसे डांस,चित्रकला, संगीत, फोटोग्राफी, सिलाई,एंड बागवानी को भी मैं शिक्षा मे स्थान देती । गरीब  छात्रों के लिए मैं छात्रवृत्तियों की व्यवस्था करती मेरा यह मानना है कि किसी भी देश की विकास का आधार उस देश की शिक्षा नीति होती है। यदि किसी देश के निवासी अशिक्षित हैं तो उस देश का कम विकास होगा यदि मैं शिक्षा मंत्री होती तो मेरा सबसे पहला कदम हर एक बच्चे को शिक्षित करना होता इसलिए एक देश के शिक्षा मंत्री को अपने देश के भविष्य के लिए सभी लोगों को शिक्षा दिलाना चाहिए.

Letsdiskuss


0
0

Blogger | Posted on


शिक्षा एक ऐसा शब्द है जिससे हर कोई परिचित है। पहले के जमाने के लोग शिक्षित नही होने के कारण से बहोत सारे पाप करते थे जो उन्हे नही करना चाहिए जेसे बाल-विवाह , कन्या भ्रूण हत्या, दहेज प्रथा, मार पिट, घरेलू हिंसा ये सब अशिक्षित होने की निशानी है। परंतु आज ऐसा नही है। अगर आज मे शिक्षा मंत्री होती तो मे हर व्यक्ति के लिए शिक्षा जरूरी कर देती क्यूकि शिक्षित व्यक्ति अच्छे देश की नीव होता है। बलिकाओ के लिए निशुल्क शिक्षा। उनकी रुचि के अनुसार पाठ्यक्रम ले पाना। तथा हर गाँव मे शिक्षा के नई नई नीतिया बनना जिससे बच्चों के माता पिता को बच्चों को पढ़ाने मे जागरूकता आये। हर व्यक्ति का अधिकार है शिक्षा और एक शिक्षा मंत्री की यह जिम्मेदारी है की वह देश मे ऐसी शिक्षा नीति रखे जो सिर्फ अमीर लोगो के लिए ही नही अपितु हर व्यक्ति के लिए हो। आज मे अगर शिक्षा मंत्री होती तो जो स्कूल कॉलगे मनमाने तरीके से फीस वसूल रहे है उन पर कार्यवाही करती तथा कम फीस  का निर्धारण करती ताकि हर बच्चा बिना किसी रोक के पढ़ पता। 

Letsdiskuss


0
0

Picture of the author