बाहुबली 2 और दंगल मूवी में से कोनसी मूवी अच्छी हैं और क्यों? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


Satnaam singh

@letsuser | Posted | Entertainment


बाहुबली 2 और दंगल मूवी में से कोनसी मूवी अच्छी हैं और क्यों?


0
1




fitness trainer at Gold Gym | Posted


Letsdiskuss


फिल्म निर्देशक एसएस राजामौली की फिल् 'बाहुबली : कन्क्लूजन' की रिलीज हो गई हैं क्योंकि:-

फिल्म में इस्तेमाल कि गए विजुअल्स इफेक्ट- बाहुबली' में जो पानी का झरना दिखाया गया था, वह दर्शकों के बीच काफी चर्चित हुआ था. दर्शक यह जानना चाहते थे कि आखिर ऐसा झरना कहां हैं? लेकिन, बाद में दर्शकों को जब यह पता चला कि वास्तव में ऐसा कोई झरना है ही नहीं, बल्कि वह तो सिर्फ एक विजुअल्स इफेक्ट था. 'बाहुबली' मे कई जगह विजुअल्स इफेक्ट का इस्तेमाल कर उसे काफी खूबसूरत बनाया गया था.

कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा?- बाहुबली-2' देखने के पीछे हमारी सबसे बड़ी वजह यह होगी कि पिछले तीन सालों से जो सवाल हैं हमें उसका जवाब मिल ही जायेगा|

फिल्म के डायलॉग्स दमदार हैं- किसी भी फिल्म को बड़ा बनाने में उसके डायलॉग का बहुत बड़ा महत्व होता है बाहुबली-2' के ट्रेलर का पहला डायलॉग भी ऐसा ही जबरदस्त है. जहां बाहुबली कहता सुनाई दे रहा है, ‘अमरेंद्र बाहुबली यानी के मैं, माहेष्मती की असंख्य प्रजा, धन, मान और प्राण की रक्षा करूंगा और इसके लिए अगर अपने प्राणों की आहुति भी देनी पड़े तो पीछे नहीं हटूंगाराजमाता शिवगामिनी को साक्षी मानकर मैं यह शपथ लेता हूं.

बाहुबली की ईमानदारी और भल्लालदेव की क्रूरता-फिल्म में इस बार लोगों को बाहुबली की ईमानदारी और कर्तव्यपरायणता का एक अलग ही रूप देखने को मिलेगा, जहां वह अपने राज्य की प्रजा के लिए जान भी देने के लिए तैयार है, वहीं लोगों को भल्लालदेव की क्रूरता का भी एक अलग ही स्तर देखने को मिलेगा, जहां वह राज्य पर अपना नियंत्रण करने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है.

बाहुबली और देवसेना की प्रेमकहानी-बाहुबली और देवसेना की प्रेमकहानी की भी झलक दिखा जाते हैं. लोगों को जहां पिछली बार शिव और अवन्तिका की प्रेमकथा देखने को मिली थी, वहीं इस बार लोगों को बाहुबली की कहानी देखने को मिलेगी. साथ ही लोगों को इस बार यह भी पता चलेगा कि आखिर ऐसा क्या हुआ था कि भल्लालेव ने देवसेना को सालों-साल बंदी बना रखा था.'



0
0

Picture of the author