इलाहाबाद में घूमने के लिए कौन - कौन सी अच्छी जगह है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language



Blog

Rohit Valiyan

Cashier ( Kotak Mahindra Bank ) | Posted on | others


इलाहाबाद में घूमने के लिए कौन - कौन सी अच्छी जगह है?


0
0




| Posted on


घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह:-

 

संगम - संगम में नाव की सवारी करें और उसमें डुबकी लगाना भी न भूलें। संगम के पास ही बड़े हनुमानजी मंदिर और राजसी अकबर किला (अकबर का सबसे बड़ा किला) है। सुरक्षा कारणों से किला शाम 05:00 बजे तक खुला रहता है क्योंकि यह एक सैन्य अड्डा है।

 

चंद्रशेखर आज़ाद पार्क - उस पार्क के चारों ओर टहलें जिसका अपना इतिहास है जहाँ महान क्रांतिकारी चंद्रशेखर तिवारी / आज़ाद ने खुद को मार डाला। इलाहाबाद संग्रहालय और विक्टोरिया मेमोरियल की यात्रा करना न भूलें जो पार्क के अंदर ही है।

 

खुसरो बाग - यह खूबसूरत बाग इलाहाबाद जंक्शन रेलवे स्टेशन के पास है। यह जहांगीर, मुगल सम्राट और उनकी पत्नी नूरजहां के सबसे बड़े पुत्र खुसरो मिर्जा की कब्र से घिरा हुआ है।

 

आनंद भवन और स्वराज भवन - यदि आप इतिहास के प्रति उत्साही हैं तो यह स्थान आपके लिए बिल्कुल उपयुक्त है। जाओ और नेहरू-गांधी परिवार के सामान के माध्यम से महान भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की यादों को ताजा करो।

 

ऑल सेंट्स कैथेड्रल या पाथर गिरजाघर - शहर के बीचोबीच स्थित यह गिरजाघर रोमन वास्तुकला का एक बेहतरीन उदाहरण है।

 

  • भारद्वाज पार्क
  • सिविल लाइंस की गली खासकर नाइट्स में यह कनॉट प्लेस की तरह है।
  • नया यमुना पुल
  • झांसी में जैन मंदिर
  • लॉर्ड कर्जन ब्रिज

Letsdiskuss


10
0

Content writer | Posted on


इलाहाबाद जो वर्तमान समय में प्रयागराज के नाम से जाना जाने लगा है , अक्सर इस शहर में पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है और सभी सोचते है कि वह कम से कम समय में सभी अच्छी से अच्छी जगहों पर घूम पाएं | यह बहुत ही फेमस और धार्मिक स्थानों में से एक है | आपको बता दिए की लगभग 450 साल पहले इस शहर का नाम प्रयागराज ही था लेकिन 15 वीं शताब्दी में जब मुगलों ने इस पावन भूमि पर कब्ज़ा किया तो इसका नाम बदलकर इलाहाबाद कर दिया था। 

Letsdiskuss (courtesy-Skymet Weather)

 इस शहर में त्रिवेणी संगम भी है जहाँ भारत की तीन प्रमुख और पवित्र नदियां गंगा, यमुना और सरस्वती आकर मिलती हैं। इस शहर में बहुत से ऐसे पर्यटन स्थल हैं जिन्हें देखने के लिए आपको एक बार यहाँ जरूर आना चाहिए तो चलिए आपको उन जगहों के बारें में बताते है की अगर आप प्रयागराज आये तो कहाँ जाना चाहिए -


- इलाहाबाद का किला –
साल 1583 ईस्वी में बने इस किले को अकबर ने बनवाया था, जिसकी शान इसकी शिल्पकारी और भव्यता को माना जाता है, जो किसी भी प्रयटक के देखने योग्य है |




- पातालपुरी मंदिर –
ऐसा माना जाता है कि इस जगह पर भगवान राम आये थे। इस मंदिर में अक्षय वट नामक एक प्राचीन बरगद का पेड़ है जिसका वर्णन प्राचीन ग्रंथों में भी मिलता है और इस स्थान को देखने के लिए पर्यटकों को अनुमति भी लेनी पड़ती है।


- हनुमान मंदिर –
संगम के नजदीक बनें इस मंदिर में स्थापित हनुमान जी की बड़ी मूर्ति पूरे उत्तर भारत में प्रसिद्ध है क्योंकि इस मंदिर में हनुमान जी एक मनमोहक मुद्रा में विराजमान है।



- मनकामेश्वर मंदिर –
प्रयागराज के अनेकों मंदिरों में से एक मनकामेश्वर मंदिर भी है , जो सरस्वती घाट के पास यमुना नदी के तट पर स्थित है।


- शंकर विमान मंडपम –
यह जगह अपने नाम की तरह ही है | शंकर विमान मंडपम एक धार्मिक स्थल है जहाँ पर कई हिन्दू मूर्तियां रखी गयी हैं। ये स्थान त्रिवेणी के पास स्थित है और इसे शक्तिपीठ माना जाता है। ये मंदिर चार स्तम्भों पर टिका हुआ है और 130 फुट ऊँचा है। यहाँ कुमारिल भट्ट, जगतगुरु शंकराचार्य, कामाक्षी देवी और योगसहस्त्र सहस्त्रयोगा लिंगा की मूर्तियां उपस्तिथ हैं।



- मिंटो पार्क –
मिंटो पार्क की नींव 1910 में लॉर्ड मिंटो ने रखी थी। सरस्वती घाट के पास स्थित इस पार्क में एक पत्थर का स्मारक है जिसके शीर्ष पर चार शेरों का प्रतीक लगा हुआ है।

- जवाहर तारामंडल –
अगर आप कुछ - कुछ विज्ञान प्रेमी है तो आप तारामंडल देखने जरुर जा सकते हैं।





0
0

| Posted on


इलाहाबाद जिसे प्रयागराज भी कहा जाता है यह हिंदुओं का सबसे धार्मिक स्थल है यह शहर उत्तर प्रदेश राज्य का सबसे बड़ा शहर है मौर्य उत्तर प्रदेश में गंगा जमुना नदी के तट पर स्थित है जहां घूमने के लिए अनगिनत मंदिर त्रिवेणी संगम, खुसरो बाग जैसे कई मस्जिद है यह शहर बेहद मशहूर शहर है जिस के विभिन्न कारण है यहां की 3 नदियां गंगा जमुना सरस्वती और कुंभ मेले से लेकर इलाहाबाद के किले सभी चीजें बहुत ही सुंदर है।

 इलाहाबाद में घूमने के लिए त्रिवेणी संगम यहां का सबसे सुंदर स्थान है जहां पर 3 नदियों का मिलन होता है गंगा जमुना और सरस्वती। इलाहाबाद शहर को संगम भी कहा जाता है। हर 5 वर्ष के बाद इस शहर में कुंभ का मेला लगता है जहां पर दूर-दूर के लोग स्नान करने आते हैं।Letsdiskuss


0
0

Picture of the author