अख़बार के किनारे पर नीला, पीला, गुलाबी और काले रंग के बिंदु क्यों होते हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language



Blog

A

Anonymous

Blogger | Posted on | Science-Technology


अख़बार के किनारे पर नीला, पीला, गुलाबी और काले रंग के बिंदु क्यों होते हैं?


0
0




| Posted on


आज यहां पर पूछा गया है कि अखबार के किनारों पर पीला, नीला, गुलाबी, और काले रंग के बिंदु  क्यों होते हैं। तो चलिए जानते हैं कि इसके पीछे का कारण क्या है। अखबार में प्रकाशित इन गोलों को CMYK रंगो के नाम से जाना जाता है।CMYK का मतलब होता है सियान C, मेजेंटा M, येलो Y, और ब्लैक K यह सभी रंग इस बात को दर्शाते हैं की अखबार की प्रिंटिंग में मुख्य रंगों का उपयोग किया गया है। क्योंकि आजकल अखबार पढ़ना बहुत जरूरी हो गया है इसके द्वारा हमें देश दुनिया की खबर प्राप्त होती है।Letsdiskuss


0
0

Blogger | Posted on


अखबार हमें दुनिया की कई सारी खबरों से रोज अवगत कराता है। कोई भी अखबार की क्वालिटी देखने के लिए उस का प्रिंटिंग देखना जरूरी है। शुरुआती दौर में खबर सिर्फ ब्लैक और वाइट कलर में ही छपते थे पर समय के साथ अब कई अखबार विविध रंगो का भी इस्तेमाल करते है। नीला, पीला, गुलाबी और काला रंग इन सारे रंगो के ही प्रतिनिधित्व करते है।

Letsdiskuss सौजन्य: ज्ञानियस 

मुद्रण के वक्त विविध रंगो की विविध प्लेट्स बनाई जाती है और उसके बाद प्रिंटिंग शुरू होता है। अगर कोई प्लेट ओवरलैप हो जाती है तो छपाई धुंधली हो जाती है और जो प्रिंटिंग के जानकार होते है वो इन्ही चार रंगो से पता लगा लेते है की कौन से रंग की प्लेट में कमी आई है जिस से उसे बखूबी दूर किया जा सकता है। सामान्यतः यह चार रंग बिंदु के स्वरुप में अखबार के निचले हिस्से में छपते है और इसी लिए यह चार बिंदु हमें हर अखबार में दिखते है। इन रंगो का प्रिंटिंग में अलग ही महत्व है। वैसे तो यह रंग किताब की छपाई में भी इस्तेमाल होते है पर पेज को काटने से यह बिंदु निकल जाते है और हमें दिखते नहीं है। अखबार में पेज को काटने की प्रक्रिया नहीं होने से हम उन्हें देख सकते है। 



0
0

Picture of the author