सूर्य ग्रहण के समय भारत में भोजन न करने की प्रथा क्यों है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language



Blog
Earn With Us

Urmila Solanki

BBA in mass communication | Posted on | News-Current-Topics


सूर्य ग्रहण के समय भारत में भोजन न करने की प्रथा क्यों है ?


0
0




| Posted on


क्या आप जानते हैं कि हमारे भारत देश में सूर्य ग्रहण के दौरान भोजन करने के लिए मना क्यों किया जाता है? तो चलिए हम आपको बताते हैं  वैज्ञानिकों की दृष्टि से कि ऐसा क्यों किया जाता है वैज्ञानिकों का मानना है कि जब चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के मध्य आ जाता है तभी सूर्य ग्रहण लग जाता है वैज्ञानिकों का मानना है कि ग्रहण के समय कुछ विकिरण वातावरण में मिलकर पृथ्वी पर पहुंचती है और यही विकिरण मनुष्य के सेहत के लिए हानिकारक होता है। इससे भोजन में बैक्टीरिया  जल्द फैल जाते हैं इसलिए ग्रहण के समय भोजन करने से मनुष्य के शरीर में कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं इसलिए वैज्ञानिकों का कहना है कि सूर्य ग्रहण के समय भोजन नहीं करना चाहिए।Letsdiskuss


0
0

System Analyst (Wipro) | Posted on


भारत ही एक ऐसा देश है जिसमे कई धर्मो को मानने वाले लोग रहते हैं और भारत की

ही ज़मीन पर आपको विभिन्न आस्थाऔ और परंपराऔ वाले लोग देखने मिलेंगे| तथा भारत ही एक ऐसा देश है जहां अलग-अलग संस्कृति,धर्म, और जाति के लोग रहते है| अब हम आपको बताते है भारत में सूर्ये ग्रहण के दौरान भोजन क्यों नहीं करते भारत में पूर्णिमा,अमावस्या और ग्रहण बहुत सी मान्यताएं प्रचलित है| भारत में ही कई लोगों का मानना है कि सूर्य ग्रहण के समय व्यक्ति को न तो भोजन ग्रहण करना चाहिए और घर से बाहर भी नहीं निकलना चाहिए। तो आइये जानते हैं कि भारत में लोग सूर्य ग्रहण होते समय भोजन ग्रहण क्यों नहीं करते| भारत में लोगो का यह मानना है की जब चाँद,सूर्य और पृथ्वी के बीच आता है तब उस समय सूर्य को ग्रहण लग जाता है| सूर्य ग्रहण के समय सूर्य से निकले वाली किरणों से सेहत संबंधी दिक्कतें आ सकती है तथा इस तरह की विकिरण पृथ्वी पर पड़ते ही वायु के साथ बहुत जल्दी से भोजन में बैक्टीरिया फैलती है| हो सकता है कि इस वजह से भारत में सूर्य ग्रहण के दौरान भोजन नहीं खाया जाता|


0
0

Picture of the author